अर्थ के आधार पर वाक्य का तात्पर्य है वाक्य का वर्गीकरण अर्थ के आधार पर होना  तीन प्रकार के वाक्यों को पहचानना काफी सरल होता है। जिस प्रकार शब्दों के अर्थ होते हैं ठीक उसी प्रकार बाक्यों में अर्थ प्रकट होता है. अर्थ के आधार पर वाक्य 8 प्रकार के होते हैं आज हम इसी विषय पर चर्चा करने वाले हैं। वाक्य की परिभाषा एवं वाक्य के भेद को इस आर्टिकल में जानेंगे तो चलिए सबसे पहले स्टार्ट करते हैं वाक्य किसे कहते हैं?

वाक्य की परिभाषा एवं अर्थ के आधार पर वाक्य के भेद

organic flat people asking questions illustration 23 2148906283

दो या दो से अधिक शब्दों के सार्थक समूह को जो सार्थक अर्थ निकालते हैं  उस शब्दों के समूह को वाक्य कहते हैं  अर्थ के आधार पर वाक्य आठ प्रकार के होते हैं।

अर्थ के आधार पर वाक्य के आठ प्रकार निम्नलिखित हैं।

1 विधानवाचक वाक्य

2 निषेधवाचक वाक्य

3 विस्मयदीबोधक वाक्य

4 प्रश्नवाचक वाक्य

5 इच्छा वाचक वाक्य

6 आज्ञा वाचक वाक्य

7 संकेतवाचक वाक्य

8 संदेह वाचक वाक्य 

विधानवाचक वाक्य

वह वाक्य जिससे किसी प्रकार की जानकारी प्राप्त होती है उसे विधानवाचक वाक्य कहते है। विधानवाचक वाक्य सामान्य वाक्य भी कहलाता है।

उदाहरण

भारत मेरा देश है.

राम के पिता का नाम दशरथ था.

नरेंद्र मोदी भारत देश के प्रधानमंत्री हैं.

निषेधवाचक वाक्य

इस वाक्य में किसी कार्य का ना होना पाया जाता है अर्थात इस वाक्य मे नकारात्मकता का बोध होता है. इस वाक्य को निषेधवाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण

मुझे खाना नहीं खाना  है

वह अच्छा लड़का नहीं है।

मैं कल रात को घर नहीं आऊंगा.

उसने अच्छा खाना नहीं बनाया।

प्रश्नवाचक वाक्य

वह वाक्य जिसमें किसी प्रकार का प्रश्न किया जाता है या किसी प्रकार का  सवाल जवाब किया जाता है उसे प्रश्न वाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण

उसके पिता का क्या नाम है?

वैश्वीकरण क्या कहलाता है?

स्वास्थ्य क्या कहलाता है?

रचना के आधार पर वाक्य कितने प्रकार के होते हैं?

आज्ञा वाचक वाक्य

वह वाक्य जिसमें हमें किसी प्रकार की आज्ञा  या प्रार्थना की जाती है  या जिसमें हमें किसी प्रकार का आदेश मानना होता है  उसे आज्ञा वाचक वाक्य कहते है।

उदाहरण

कृपया कर शांत बैठीए.

यहां से वहां जाकर बैठीए.

कृपया कर शांति बना रखिए.

मां जल्दी खाना बनाय.

विस्मयदीबोधक वाक्य

वह वाक्य जिसमें किसी प्रकार की गहरी अनुभूति का वर्णन होता है या  किसी प्रकार का आश्चर्य उत्पन्न होता है वहां पर  विस्मयदीबोधक वाक्य होता है।

उदाहरण

आह :कितना सुंदर उपवन है।

आह : कितना ठंडा जल है।

बल्ले बल्ले हम जीत गए।

वाह : कितना सुन्दर चित्र है।

इच्छा वाचक वाक्य

जिस वाक्य मैं किसी इच्छा आशीर्वाद या फिर आकांक्षा का बोध होता है. उसे इच्छा वाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण 

भगवान करे तुम सदा खुश रहो।

आपका जीवन मंगलमय हो।

आप हमेशा खुश रहें।

संकेत वाचक वाक्य

जिस वाक्य में किसी संकेत का इशारा होता है उसे संकेत वाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण

राम का मकान मेरे घर के पास है.

सोनू गली के पीछे रहता है।

उसके पास बहुत सारा पैसा है।

हमारे पास कुछ नहीं है.

संदेश वाचक वाक्य

जिस वाक्य में संदेह का बोध होता है या शक की उत्पत्ति होती है उसे संदेह वाचक वाक्य कहते है।

उदाहरण

क्या हुआ घर वापसी आ गई।

क्या उसने खाना खाया है।

वह कहां पर रहता है।

क्या अपने काम कर लिया?

FAQ.

वाक्य किसे कहते हैं एवं उसके अर्थ के आधार पर प्रकारों का वर्णन कीजिए?

वाक्य की परिभाषा :- दो या दो से अधिक शब्दों के सार्थक समूह को जो सार्थक अर्थ निकालते हैं  उस शब्दों के समूह को वाक्य कहते हैं  अर्थ के आधार पर वाक्य आठ प्रकार के होते हैं।
अर्थ के आधार पर वाक्य के आठ प्रकार निम्नलिखित हैं।
1 विधानवाचक वाक्य
2 निषेधवाचक वाक्य
3 विस्मयदीबोधक वाक्य
4 प्रश्नवाचक वाक्य
5 इच्छा वाचक वाक्य
6 आज्ञा वाचक वाक्य
7 संकेतवाचक वाक्य
8 संदेह वाचक वाक्य 

प्रश्नवाचक वाक्य किसे कहते हैं?

प्रश्नवाचक वाक्य :- वह वाक्य जिसमें किसी प्रकार का प्रश्न किया जाता है या किसी प्रकार का  सवाल जवाब किया जाता है उसे प्रश्न वाचक वाक्य कहते हैं।
उदाहरण
उसके पिता का क्या नाम है?
वैश्वीकरण क्या कहलाता है?
स्वास्थ्य क्या कहलाता है?

रचना के आधार पर वाक्य कितने प्रकार के होते हैं?

रचना के आधार पर वाक्य तीन प्रकार के होते हैं।

अर्थ के आधार पर वाक्य कितने प्रकार के होते हैं?

अर्थ के आधार पर वाक्य के आठ प्रकार निम्नलिखित हैं।
1 विधानवाचक वाक्य
2 निषेधवाचक वाक्य
3 विस्मयदीबोधक वाक्य
4 प्रश्नवाचक वाक्य
5 इच्छा वाचक वाक्य
6 आज्ञा वाचक वाक्य
7 संकेतवाचक वाक्य
8 संदेह वाचक वाक्य 

वर्णमाला किसे कहते है?

ध्वनि के बे चिन्ह जिनें हम वर्ण कहते है उनके एक सही और व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहते है।दुनिया की हर भाषा की अपनी एक अलग वर्णमाला होती है किसी भी भाषा को लिखने के लिए वर्णमाला की जरुरत पड़ती है एवं बोलने के लिए उनके उच्चारण की जरुरत होती है।

Conclusion

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने  अर्थ के आधार पर वाक्य के आठ प्रकारों को समझाइए एवं जाना अगर आपको इसमें कोई सुझाव या समस्या हो तो  हमें कमेंट करके जरूर बता दें. अगर आपको हमारा लेख  अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूले ।

Also Read These Post

चेक कैसे भरे?

समग्र आईडी कैसे सर्च करें?

12th के बाद साइंस स्टूडेंट क्या करें?

विलोम शब्द किसे कहते हैं?

पर्यायवाची शब्द किसे कहते हैं? | पर्यायवाची शब्द के उदाहरण

संज्ञा किसे कहते हैं? उसकी परिभाषा, प्रकार एवं उदाहरण सहित समझाइए?

श्लेष अलंकार के उदाहरण एवं परिभाषा

सरकार ने लिया बड़ा फैसला कंप्यूटर लैपटॉप के आयात पर लगाया प्रतिबंध

E-Mitra PM Kisan Status कैसे चेक करे?

छुट्टी के लिए आवेदन पत्र

अनुप्रास अलंकार किसे कहते है एवं उसके उदाहरण ?

यमक अलंकार की परिभाषा एवं उसके उदाहरण

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना 2023 (मध्य प्रदेश) के बारे में पूरी जानकारी

Computer ko Hindi mein kya kahate hain | कंप्यूटर को हिंदी में क्या कहते हैं?

Business Development Associate Job At BYJU’s: Apply By 30 August 2023

Meesho Account कैसे डिलीट करें

व्याकरण किसे कहते हैं?

Vyanjan Kitne Hote hain

Shivam Rajpoot
Author: Shivam Rajpoot

में शिवम् राजपूत कंटेंट राइटर हू, मुझे कंटेंट राइटिंग में एक साल का अनुभव है। में टेक ,न्यूज़ ,ट्रेवल ,स्पोर्ट ,जॉब ,पोलीटिक ,एजुकेशन ,हेल्थ आदि विषयो में रूचि रखता हु | में बीए ग्रेजुएट हु और मुझे नई नई चीजे एक्स्प्लोर करना अच्छा लगता है |

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Sign In

Register

Reset Password

Please enter your username or email address, you will receive a link to create a new password via email.