Operating System Ke Prakar

Operating System Ke Prakar बहुत सारे प्रकार होते हैं जिनमें से आपको कुछ प्रकारों के नाम इस प्रकार है। ऑपरेटिंग सिस्टम को उनके कार्य तथा विकास के आधार पर बांटा गया है। ऑपरेटिंग सिस्टम को उपयोगकर्ता के आधार पर, कार्य के आधार पर तथा विकास के आधार पर बांटा गया है विकास के आधार पर Operating System Ke Prakar इस प्रकार है।

Operating System Ke Prakar
  • बैच ऑपरेटिंग सिस्टम
  • मल्टी-प्रोग्रामिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • मल्टी-प्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • मल्टी-टास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • टाइम-शेयरिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • वितरित ऑपरेटिंग सिस्टम
  • नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम

नमस्कार दोस्तों तो आप सभी लोग जानते हैं कि कंप्यूटर के संचालन के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम एक महत्वपूर्ण सिस्टम होता है इसके बिना हम कंप्यूटर का संचालन नहीं कर सकते हैं। इसलिए कंप्यूटर की संचलन के लिए कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम होना आवश्यक होता है ऑपरेटिंग सिस्टम एक ऐसा सिस्टम होता है जो किसी भी कंप्यूटर डिवाइस में एक इंटरफेस के रूप में कार्य करता है तथा यह अन्य इनपुट डिवाइस एवं आउटपुट डिवीजन के बीच ऑपरेट करने का कार्य करता है।

आप सभी लोगों ने तो ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम अवश्य ही सुना होगा क्योंकि जब भी आप कंप्यूटर पर कोई कार्य करते हैं तो आप लोग ने उसे पर ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से कार्य किया होता है। 

इसके अलावा अगर आप कंप्यूटर संबंधित विषय पर जानकारी रखते हैं तो आप लोगों ने भी ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम भी जरूर सुना होगा एवं इसका प्रयोग आपने आमतौर पर अपने आसपास जरूर देखा होगा। आपने कभी किसी के द्वारा भी सुना होगा कि कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग किया जाता है तो आप सभी लोगों को ऑपरेटिव सिस्टम का नाम तो जरूर ही पहचानित होगा।

 हो सकता है कि आप सभी लोगों ने ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम सुना हो लेकिन क्या होता है कि आप लोगों को यह मालूम नहीं रहता है कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है Operating System Ke Prakar, एवं इसके अलावा ऑपरेटिंग सिस्टम से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी भी आप लोगों को मालूम नहीं रहती है।

आप क्या जानेगे

Operating System Ke Prakar

 हमें मालूम है कि आप सभी लोगों को यह जानकारी प्राप्त नहीं थी कि Operating System Ke Prakar एवं ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है इसलिए आप लोग हमारे आर्टिकल तक यह जानकारी प्राप्त करने के लिए आए हैं कि Operating System Ke Prakar कितने होते हैं तो आप लोग बिल्कुल सही पोस्ट पर आए हैं हमें इस पोस्ट के माध्यम से आपको बताएंगे कि Operating System Ke Prakar कितने होते हैं तो आप लोगों को कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है आप लोग हमारे आर्टिकल में बने रहे और हम आपको बताएंगे कि Operating System Ke Prakar कितने होते हैं।

तो हम आपको उसे आर्टिकल में यह जानकारी देने आए हैं कि Operating System Ke Prakar कितने होते हैं तथा ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है। अगर आप लोग भी इस महत्वपूर्ण एवं उपयोगी जानकारी का फायदा उठाना चाहते हैं तो आप हमारे आर्टिकल में अन्त तक जरूर बनेगा।

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है?

Operating System Ke Prakar कितने होते हैं से यह जानने से पहले हम इस बारे में जानकारी प्राप्त कर लेते हैं कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है जिससे हमें आगे Operating System Ke Prakar जानने में आसानी होगी।

ऑपरेटिंग सिस्टम एक सॉफ्टवेयर होता है जो किसी भी कंप्यूटर या डिवाइस में इंटरफेस के रूप में कार्य करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम ही किसी कंप्यूटर के सिस्टम को ऑपरेट करने की अनुमति देता है। ऑपरेटिंग सिस्टम ही सभी सॉफ्टवेयरोन को कम करने योग्य बनाता है अगर ऑपरेटिंग सिस्टम आपका ठीक तरीके से काम नहीं करता है तो आपकी सॉफ्टवेयर भी ठीक तरीके से काम नहीं कर पाएंगे।

ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है,कंप्यूटर डिवाइस तथा यूजर के बीच इंटरफ़ेस का कार्य करता है। हम सबसे पहले कंप्यूटर को ऑन करते हैं तो सबसे पहले ऑपरेटिंग सिस्टम ही लोड होता है इसके बाद ही हम उन एप्लीकेशन का उपयोग कर सकते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम को शॉर्ट फॉर्म में OS तथा हिंदी में प्रचालन तंत्र कहते हैं। अगर सामान्य शब्दों में ऑपरेटिंग सिस्टम को परिभाषित किया जाए तो ऑपरेटिंग सिस्टम व सिस्टम होता है जो कंप्यूटर तथा यूजर के बीच बातचीत करने का कार्य करता है।

Operating System Ke Prakar

Operating System Ke Prakar

Operating System Ke Prakar को उनके कार्यों के आधार पर कई भागों में बांटा गया है जो इस प्रकार है।

उपयोगकर्ता के आधार पर Operating System Ke Prakar :-

उपयोगकर्ता  के आधार पर ऑपरेटिंग सिस्टम को दो भागों में बांटा गया है।

  • सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम (Single User Operating System)
  • मल्टीयूजर ऑपरेटिंग सिस्टम (Multi User Operating System)

कार्य के आधार पर Operating System Ke Prakar :-

कार्य के आधार पर भी ऑपरेटिंग सिस्टम के दो प्रकार होते हैं जो निम्नलिखित हैं।

  • करेक्टर यूजर इंटरफ़ेस (Character User Interface)
  • ग्राफ़िकल यूजर इंटरफ़ेस (Graphical User Interface)

विकास के आधार पर Operating System Ke Prakar :-

विकास के आधार पर Operating System Ke Prakar 7 होते हैं जो निम्नलिखित हैं।

  • बैच ऑपरेटिंग सिस्टम
  • मल्टी-प्रोग्रामिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • मल्टी-प्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • मल्टी-टास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • टाइम-शेयरिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
  • वितरित ऑपरेटिंग सिस्टम
  • नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम

ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण

वैसे तो ऑपरेटिंग सिस्टम के बहुत सारे प्रकार होते हैं जिनका उपयोग अलग-अलग डिवाइस में अलग-अलग उद्देश्यों के लिए किया जाता है ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण इस प्रकार है।

  • Windows Operating System (Windows XP, Windows 7, Windows 8, Windows 10, Windows 11)
  • Chrome
  • Android
  • Linux
  • Ubuntu
  • MS-DOS
  • Blackberry
  • Apple IOS
  • Apple Mac OS

ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषताएं 

एक ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषता निम्नलिखित है.

  • ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर को ग्राफिकल इंटरफेस प्रदान करता है,जिससे यूजर किसी भी कंप्यूटर डिवाइस को आसानी से ऑपरेट कर सकता है।
  • जब हमें एक से अधिक प्रोग्राम को एक साथ ओपन करना होता है तो उसे मल्टीप्रोग्राम कहते हैं या सुविधा ऑपरेटिंग सिस्टम में होती है।
  •  ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर की हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर को नियंत्रित करता है जिससे कंप्यूटर के सभी प्रोग्राम एवं सॉफ्टवेयर अच्छी तरह से कार्य कर सकें।
  • ऑपरेटिंग सिस्टम हमारे कंप्यूटर डिवाइस की मेमोरी को मैनेजमेंट करके रखता है जिससे मेमोरी में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं जाती है।
  • ऑपरेटिंग सिस्टम हमारी कंप्यूटर की सभी फ़ाइल को मैनेजमेंट एवं डायरेक्ट सेट करके रखता है।

FAQs

विकास के आधार पर Operating System Ke Prakar कितने होते हैं?

विकास के आधार पर Operating System Ke Prakar 7 होते हैं जो निम्नलिखित हैं।
बैच ऑपरेटिंग सिस्टम
मल्टी-प्रोग्रामिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
मल्टी-प्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
मल्टी-टास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम
टाइम-शेयरिंग ऑपरेटिंग सिस्टम
वितरित ऑपरेटिंग सिस्टम
नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम

DOS का पूरा नाम क्या है?

Dos का पूरा नाम डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम होता है।

 दुनिया का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम कब और किस कंपनी के द्वारा बनाया गया था?

 दुनिया का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम आईबीएम कंपनी द्वारा 1956 में बनाया गया था।

भारत का सबसे पहले ऑपरेटिंग सिस्टम कौन सा था?

 देश ने आत्मनिर्माण भारत के तहत पहले ऑपरेटिंग सिस्टम BharOS को लांच किया गया है।

निष्कर्ष

 नमस्कार दोस्तों तो आप सभी लोगों ने हमारे आर्टिकल में सीखा कि Operating System Ke Prakar कितने होते हैं,ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है, ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषताएं ऑपरेटिंग सिस्टम को कब बनाया गया था तथा ऑपरेटिंग सिस्टम से अन्य महत्वपूर्ण प्रश्नावली के बारे में भी आप लोगों ने जानकारी प्राप्त की है हमें उम्मीद है कि आप लोगों के सभी प्रकार के डाउट हमारे आर्टिकल को पढ़कर दूर हो गए होंगे।

अगर आपको हमारा आर्टिकल अच्छा एवं पसंद आया हो तो उसे अपने दोस्तों परिवारजनों के साथ शेयर भी कर सकते हैं जिससे वह लोग हमारी जानकारी का लाभ ले सके। अगर आपको हमारी आर्टिकल में किसी प्रकार का कोई सुझाव देना है तो नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके बता सकते हैं.

अगर आप लोगों ने हमारा आर्टिकल पूरा अंत तक पढ़ा होगा तो आप लोगों को हमारे आर्टिकल में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई होगी।

Also Read These Post

Bios Kya Hai

Printer Kya Hai

Checkbook Kaise Bhare

Vestige Kya Hai

Byju’s Kya H

CSS Kya Hai

Modem Kya Hai

Tpin Kya Hota Hai

Python Kya Hai

Binomo App Kya Hai

Pen Drive Kya Hai

HTML Kya Hai

IBC Kya Hai

Data Kya Hai

MEMORY Kya Hai

CPU Kya Hai

Trackball Kya Hai

Network Kya Hota Hai

Software Kya Hai

Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain

Paisa Kamane Ka Tarika

Paisa Kamane Wala App

RAM Kya Hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *