Bios Kya Hai

Bios Kya Hai Bios का पूरा नाम बेसिक  इनपुट आउटपुट डिवाइस सिस्टम होता है, यह एक प्रकार का सॉफ्टवेयर सिस्टम होता है जो मदरबोर्ड में स्थित रोम में मौजूद रहता है।Bios ऑपरेटिंग सिस्टम तथा हार्डवेयर के बीच मध्यस्थ का काम करता है। यह ऑपरेटिंग सिस्टम तथा सिस्टम के बीच हार्डवेयर के भागों के मध्य संचार करने का कार्य करता है। Bios कंप्यूटर का एक अहम हिस्सा होता है, जब हम कंप्यूटर स्टार्ट करते हैं तो कंप्यूटर पर पहला स्क्रीन जो दिखाई देता है वही वायरस होता है। कंप्यूटर चालू होने के बाद तुरंत बाद Bios कंप्यूटर में हार्डवेयर की पहचान करने में कार्य करता है।

Bios Kya Hai

नमस्कार दोस्तों तो आप सभी का स्वागत है आपकी आर्टिकल में आज हम एक बहुत ही महत्वपूर्ण आउटपुट इनपुट सिस्टम के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले है।  इसके बारे में आप सभी आप सभी को हमारी जानकारी काफी महत्वपूर्ण भी हो सकती है क्योंकि इस जानकारी में हम ऐसे सिस्टम के बारे में बात करेंगे जो आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है।

आप सभी लोग तो जानते हैं कंप्यूटर को चलाने के लिए हमें सॉफ्टवेयर एवं हार्डवेयर की आवश्यकता होती है अगर हमारे पास सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर उपलब्ध नहीं है तो हम कंप्यूटर को नहीं चला सकते हैं क्योंकि बिना हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर के बिना हम कंप्यूटर पर कोई भी कार्य नहीं कर सकते हैं। तो आप सभी लोग जानते हैं कि कंप्यूटर में कार्य करने के लिए हमें कुछ हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर की आवश्यकता पड़ती है तो हम इस आर्टिकल में कंप्यूटर से संबंधित सॉफ्टवेयर के बारे में ही बात करने वाले हैं।

आप सभी लोगों ने तो सिस्टम सॉफ्टवेयर का नाम ही जरुर सुना होगा उसी में से एक प्रकार होता है बेसिक इनपुट आउटपुट सिस्टम जैसे हम शॉर्ट फॉर्म में Bios कहते हैं। तो आप सभी लोगों ने बेसिक इनपुट आउटपुट सिस्टम बाय उसका नाम तो जरूरी सुना होगा तो इसका प्रयोग आप कंप्यूटर में जरूर करते हैं।

आप क्या जानेगे

हमें पता है कि आप सभी को यह मालूम नहीं है कि Bios Kya Hai इसलिए आप जानकारी लेने के लिए हमारे पोस्ट तक आए हैं। तो हमने सोचा क्यों ना आप लोगों के लिए एक ऐसी पोस्ट तैयार की जाए जिसमें Bios Kya Hai से संबंध प्रकार की जानकारी है। आप सभी लोग Bios Kya Hai से संबंधित जानकारी सर्च करते हुए हमारे आर्टिकल तक Bios Kya Hai जानकारी प्राप्त करने के लिए आए हैं तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर आए हम आर्टिकल में बताएंगे की Bios Kya Hai

 तो दोस्तों देर किस बात की शुरू करते हैं हमारा आर्टिकल Bios Kya Hai एवं Bios से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी पर हम आपको बताने वाले हैं अगर आप लोग इस महत्वपूर्ण जानकारी का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको हमारा आर्टिकल अंत तक पढ़ना होगा।

Bios Kya Hai

Bios का पूरा नाम बेसिक  इनपुट आउटपुट डिवाइस सिस्टम होता है, यह एक प्रकार का सॉफ्टवेयर सिस्टम होता है जो मदरबोर्ड में स्थित रोम में मौजूद रहता है।Bios ऑपरेटिंग सिस्टम तथा हार्डवेयर के बीच मध्यस्थ का काम करता है। यह ऑपरेटिंग सिस्टम तथा सिस्टम के बीच हार्डवेयर के भागों के मध्य संचार करने का कार्य करता है। Bios कंप्यूटर का एक अहम हिस्सा होता है, जब हम कंप्यूटर स्टार्ट करते हैं तो कंप्यूटर पर पहला स्क्रीन जो दिखाई देता है वही वायरस होता है। कंप्यूटर चालू होने के बाद तुरंत बाद Bios कंप्यूटर में हार्डवेयर की पहचान करने में कार्य करता है।

Bios Kya Hai

जब कंप्यूटर को शुरू किया जाता है तो सबसे पहले जो स्क्रीन दिखाई जाती है उसे ही हम Bios कहते हैं। Bios एक तरफ से सॉफ्टवेयर का रूप होता है।कंप्यूटर के माइक्रोप्रोसेसर कंप्यूटर की सिस्टम, चालू करने के बाद शुरू करने के लिए Bios का उपयोग किया जाता है। कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम तथा हार्ड डिस्क वीडियो एडेप्टर कीबोर्ड माउस प्रिंटर जैसे उपकरणों के बीच डाटा संचार करने का कार्य करता है।

 Bios के कार्य 

अब आप लोग यही भी जानना चाहेंगे कि Bios के क्या कार्य होते हैं तो आप लोग बिल्कुल भी परेशान ना हो हम आपको बताते हैं की Bios के क्या कार्य हैं।

  •  पावर ऑन सेल टेस्ट के माध्यम से पीसी आपके हार्डवेयर की जांच करता है अगर आपकी हार्डवेयर में कोई कमी होती है तो Bios उसे ठीक करने का काम करता है।
  •  Bios आपके कंप्यूटर में फोंट कलर साइज डेट टाइम आदि को भी मैनेज करने का कार्य करता है.
  •  Bios के प्रमुख कार्यों में से बूस्टर को चेक करना भी एक बार होता है।
  •  कंप्यूटर हार्डवेयर के बेसिक ऑपरेशन को कंट्रोल करने के लिए लो लेवल ड्राइवर को नियंत्रित करने का कार्य करता है।

Bios ऑपरेटिंग सिस्टम की सेटिंग 

Bios Kya Hai

Bios ऑपरेटिंग सिस्टम में बहुत प्रकार की सेटिंग होती है जिन सेटिंग का प्रयोग करके हम इसको बेहतर बना सकते हैं। Bios ऑपरेटिंग सिस्टम की प्रमुख सेटिंग इस प्रकार है।

  • Loading of the BIOS Setup Default
  • Changing the booting order
  • Creation or deletion of the BIOS Password
  • Setting or Changing the Date and Time
  • Changing Floppy Disc, Hard Drive or CD/DVD Settings
  • Check Memory Installed status
  • Enabling or Disabling the Computer Logo
  • Enabling or Disable the Quick POST
  • Enable or Disable the CPU Internal Cache
  • Enable or Disable the Caching of BIOS
  • Change CPU Settings
  • Change Memory Settings
  • Change System Voltages
  • Enable or Disable RAID
  • Enable or Disable Onboard USB,
  • Enable or Disable Audio ports and serial/ parallel Ports
  • Enable or Disable Onboard Floppy Controller
  • Enable or Disable ACPI
  • Change the Boot Up NumLock Status
  • Change the Advanced Configuration and Power Interface (ACPI) Type
  • Change the Power Button Function
  • Change Power-on Settings
  • Change Which Display is Initialized First on Multi-Display Setups
  • Reset Extended System Configuration Data (ESCD)
  • Enable or Disable BIOS Control of System Resources
  • Change and view Fan Speed Settings
  • View CPU and System Temperatures
  • View System Voltages

Bios के प्रकार

Bios के भी दो प्रकार के होते हैं Bios के दो प्रकार निम्नलिखित है।

UEFI BIOS :- UEFI BIOS का पूरा नाम Unified Extensible Firmware Interface Bios होता है इसका प्रयोग आधुनिक कंप्यूटर में किया जाता है।

LEGACY BIOS :- लिगसी Bios का प्रयोग पुराने मदरबोर्ड तथा काम स्टोरेज डिवाइस वाली क्षमता को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है।

FAQs

UEFI BIOS क्या है?

 UEFI BIOS का पूरा नाम Unified Extensible Firmware Interface Bios होता है इसका प्रयोग आधुनिक कंप्यूटर में किया जाता है।

LEGACY BIOS क्या है?

लिगसी Bios का प्रयोग पुराने मदरबोर्ड तथा काम स्टोरेज डिवाइस वाली क्षमता को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है।

Bios का आविष्कार कब किया गया था?

Bios का आविष्कार 1974 में गेरी किल्डर ने किया था, जिसका सबसे पहला प्रयोग पीसी के मदरबोर्ड में किया गया था।

समापन

तो आप सभी को हमारा आज का लेख कैसा लगा हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताइए अगर आपको हमारे लेख में किसी भी प्रकार की कोई कमि महसूस हुई हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं।

हमारे इस आर्टिकल लिखने का प्रमुख उद्देश्य यही था कि आप लोगों को Bios Kya Hai से संबंध समस्त प्रकार की जानकारी उपलब्ध कराई जाए। अब आप लोगों को यह पता चल गया होगा की Bios Kya Hai एवं Bios के उपयोग,Bios का आविष्कार Bios के प्रकार आदि। अगर आप लोगों ने हमारा आर्टिकल पूरा पढ़ा होगा तो आप लोगों को हमारे आर्टिकल में कुछ अन्य जानकारी भी प्राप्त जरूरी होंगी।

Also Read These Post

Vestige Kya Hai

Checkbook Kaise Bhare

Byju’s Kya H

CSS Kya Hai

Modem Kya Hai

Tpin Kya Hota Hai

Python Kya Hai

Binomo App Kya Hai

Pen Drive Kya Hai

HTML Kya Hai

IBC Kya Hai

Data Kya Hai

MEMORY Kya Hai

CPU Kya Hai

Trackball Kya Hai

Network Kya Hota Hai

Software Kya Hai

Computer Kitne Prakar Ke Hote Hain

Paisa Kamane Ka Tarika

Paisa Kamane Wala App

RAM Kya Hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *