कुंडलपुर कैसे जायें | Kundalpur Kaise Jaen?

कुंडलपुर भारत का एक बहुत ही प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल है, जो जैन धर्म के प्रमुख तीर्थंकर क्षेत्र के रूप में जाना जाता है।इस प्रकार से हिंदू धर्म में अपने तीर्थ क्षेत्र की मान्यता होती है ठीक उसी प्रकार जैन धर्म में कुंडलपुर की भी अपने तीर्थ क्षेत्र के रूप में एक मान्यता है। यहां पर प्रति वर्ष सैकड़ो जैन धर्म के यात्री घूमने के लिए आते हैं, इसके अलावा अन्य धर्म के लोग भी कुंडलपुर के लिए आते हैं क्योंकि कुंडलपुर जैन तीर्थ क्षेत्र होने के अलावा एक पर्यटन क्षेत्र भी है इसलिए यहां पर प्रतिवर्ष हजारों दर्शक यहां घूमने आते हैं।

कुंडलपुर कैसे जायें | Kundalpur Kaise Jaen?

लेकिन जब बाहर से सैलानी आते हैं तो उन्हें यह मालूम नहीं रहता है कि कुंडलपुर कैसे जाएं या फिर कुंडलपुर कहां पर स्थित है या कुंडलपुर पहुंचने के लिए किस मार्ग का उपयोग किया जाना चाहिए ऐसे बहुत सारे विषय होते हैं। जिन विषय पर यात्रियों को जानकारी मालूम नहीं होती है, तो हम आपको ऐसे ही जानकारी से अवगत कराने वाले हैं जिससे कि आपको कुंडलपुर कैसे जाएं से संबंधित समस्त प्रकार की जानकारी प्राप्त हो जाएगी।

कुंडलपुर कहां पर स्थित है?

सबसे पहले हमें यह मालूम होना चाहिए कि कुंडलपुर कहां पर स्थित है, तभी हमें यह मालूम होगा कि हम कुंडलपुर कैसे जा सकती है या फिर किस प्रकार का रास्ता हमारे लिए अच्छा होगा।

कुंडलपुर मध्य प्रदेश राज्य के दमोह जिले में पटेरा तहसील में स्थित है, कुंडलपुर दमोह जिले से 34 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। कुंडलपुर जैन धर्म के लिए पूरे भारत में प्रसिद्ध है क्योंकि यह अपनी शैली के लिए जाना जाता है, इसलिए कुंडलपुर प्रति वर्ष बहुत सारे लोग आते हैं लेकिन उन्हें मालूम नहीं रहता है कि कुंडलपुर कैसे जाएं यहां पर कुंडलपुर कहां पर स्थित है।

कुंडलपुर क्यों प्रसिद्ध है?

कुंडलपुर जैन धर्म मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है यहां पर उनके तीर्थंकरों की स्मृति होने के कारण यहां पर भव्य जैन मंदिर का निर्माण किया गया है।

कुंडलपुर कैसे जायें | Kundalpur Kaise Jaen?

ऐसा माना जाता है कि जैन धर्म के संस्थापक और अंतिम तीर्थंकर महावीर स्वामी का जन्म स्थान माना जाता है। महावीर स्वामी की याद में कुंडलपुर में उनकी 4:30 फीट की एक भव्य मूर्ति को विराजमान किया गया है। इसके अलावा कुंडलपुर अपनी कला एवं संस्कृति के लिए भी जाना जाता है अगर आपका भी कुंडलपुर घूमने आते हैं तो आपके यहां पर वहां के बगीचे अलग-अलग मंदिर एवं यहां की लोक संस्कृति आपको बहुत ही प्रभावित करेगी।

तो अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि हम कुंडलपुर कैसे जाएं या फिर कुंडलपुर कैसे पहुंच सकते हैं। तो लिए जान लेते हैं कि कुंडलपुर कैसे जाएं इसके बारे में हम आपको नीचे व्यवस्थित रूप से जानकारी बताने वाले हैं। आप लोग इन तीनों मार्गों का प्रयोग करके कुंडलपुर आसानी पूर्वक आ सकते हैं। बस आपको यह जानकारी मालूम होनी चाहिए कि कुंडलपुर किस-किस मार्गो से हम पहुंच सकते हैं तो लिए उसी की जानकारी हम आपको नीचे बताते हैं।

कुण्डलपुर कैसे जायें | Kundalpur Kaise Jaen?

कुंडलपुर जाने के लिए आप लोग निम्नलिखित तीन मार्गों का उपयोग कर सकते हैं जिनकी जानकारी इस प्रकार है।

हवाई मार्ग

आप लोग कुंडलपुर पहुंचने के लिए हवाई मार्ग का भी उपयोग कर सकते हैं, यह रास्ता बहुत ही सरल एवं काम होता है लेकिन यह थोड़ा खर्चीला होता है। इसमें आपको हवाई जहाज से आना होता है। आप जहां कहीं से भी हैं उसके सबसे पास एयरपोर्ट से हवाई जहाज के माध्यम से आ सकते हैं। कुंडलपुर से लगभग 155 किलोमीटर की दूरी पर जबलपुर हवाई अड्डा स्थित है, इस प्रकार से आप हवाई मार्ग के द्वारा जबलपुर हवाई अड्डे तक आसानी पूर्वक आ सकते हैं। लेकिन इसके बाद आपको बस परिवहन सेवा का सहारा लेना पड़ेगा। इस प्रकार से आप हवाई जहाज के माध्यम से कुंडलपुर से 155 दूरी की परिस्थित जबलपुर तक आसानी पूर्वक आ सकते हैं।

रेल मार्ग

हवाई मार्ग के अलावा आप लोग कुंडलपुर तक पहुंचाने के लिए रेल मार्ग का सहारा भी ले सकते हैं, रेल मार्ग बहुत ही सस्ता एवं सरल संसाधन होता है। इसमें आपको कुंडलपुर से 37 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है दमोह रेलवे स्टेशन तक की दूरी को तय करना पड़ता है। इसके बाद जैसे ही आप दमोह रेलवे स्टेशन पर पहुंचते हैं वहां से आप लोग ई रिक्शा ऑटो रिक्शा या फिर बस परिवहन के द्वारा आसानी पूर्व कुंडलपुर पहुंच सकते हैं।यहां से आपको प्रत्येक घंटे पर बस की सुविधा उपलब्ध है।

सड़क मार्ग

सड़क मार्ग के द्वारा कुंडलपुर जाने के लिए आपको सागर हटा छतरपुर एवं उसके आसपास के शहर से बस सुविधा आसानी पूर्वक उपलब्ध हो जाती है। इसलिए आप जिस सिटी या फिर जिस राज्य से हो वहां से भी कुंडलपुर के आसपास के शहर के लिए आसानी पूर्वक बस सुविधा उपलब्ध हो जाती है।

दमोह रेलवे स्टेशन से कुंडलपुर जाने के लिए समिति द्वारा आपको मुक्त बस सर्विस सेवा भी उपलब्ध कराई गई है, टेंट सिटी से कुंडलपुर तक पहुंचाने के लिए 150 ऑटो रिक्शा की सुविधा भी उपलब्ध रहती है। इसके अलावा आप जैसे ही कुंडलपुर तीर्थ क्षेत्र में पहुंचते हैं आपको बड़े बाबा के दर्शन के लिए पहाड़ी तक ले जाने के लिए बसों की सेवा फ्री में उपलब्ध रहती है।

आप लोग इन मार्गों का प्रयोग करके आसानी पूर्वक कुंडलपुर पहुंच सकते हैं,  वैसे भी आज वर्तमान समय है तो आप लोग किसी भी अन्य प्रकार की समस्या होने पर गूगल मैप की सहायता भी ले सकते हैं।

FAQs

कुंडलपुर में किसका जन्म हुआ था?

कुंडलपुर में जैन धर्म के संस्थापक महावीर स्वामी का जन्म स्थान माना जाता है।

कुंडलपुर क्यों प्रसिद्ध है?

नालंदा के बाहरी इलाके में स्थित कुंडलपुर जैन धर्म के संस्थापक और अंतिम तीर्थंकर महावीर स्वामी की जन्मस्थली के रूप में जाना जाता है। उन्हीं की याद में कुंडलपुर को चिन्हित करने के लिए यहां पर मंदिर का निर्माण किया गया है।

दमोह से कुंडलपुर की कितनी दूरी है?

दमोह से कुंडलपुर 37 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

कुंडलपुर से दमोह कितनी दूर है?

कुंडलपुर से दमोह 37 किलोमीटर दूर है।

कुंडलपुर के सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन कौन सा है?

कुंडलपुर की सबसे निकटतम दमोह रेलवे स्टेशन है जो की कुंडलपुर से 37 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

कुंडलपुर के पास सबसे निकट कौन सा हवाई अड्डा है?

कुंडलपुर के पास सबसे निकटतम हवाई अड्डा जबलपुर हवाई अड्डा है जो की 155 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

कुंडलपुर का पुराना नाम क्या है?

 कुंडलपुर को प्राचीन समय में कुंडलगिरी सिद्ध क्षेत्र के नाम से जाना जाता था, यहां पर आठवी एवं नवी सदी के ती आलोकित मंदिर स्थापित है।

कुंडलपुर में किसकी मूर्ति विराजमान है?

कुंडलपुर में बड़े बाबा आदिनाथ की विशालकाय मूर्ति जिस पर पर्वत विराजमान है, उसकी आकृति कुंडलाकर है इसलिए इसका नाम कुंडलपुर रख दिया गया।

निष्कर्ष

दोस्तों तो आप लोगों के लिए यह है हमारी जानकारी की कुंडलपुर कैसे जाएं अब आपको यह मालूम चल गया होगा कि कुंडलपुर कैसे जाएं। कुंडलपुर जाने के लिए आप लोग रेलवे मार्ग हवाई मार्ग एवं सड़क मार्ग तीनों मार्गों का उपयोग करके कुंडलपुर आसानी पूर्वक पहुंच सकते हैं। अगर आप लोग कुंडलपुर से संबंधित जुड़ी और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप लोग हमारी अन्य पोस्ट को भी पढ़ सकते हैं।

 इसके अलावा आप लोग कुंडलपुर से जुड़ी अन्य जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट के पेज को फॉलो कर सकते हैं,  अगर आपको कुंडलपुर से संबंधित किसी भी जानकारी पर कोई भी डाउट हो तो आप लोग हमें नीचे कमेंट करके बता सकते हैं।

Also Read These Post

में शिवम् राजपूत कंटेंट राइटर हू, मुझे कंटेंट राइटिंग में एक साल का अनुभव है। में टेक ,न्यूज़ ,ट्रेवल ,स्पोर्ट ,जॉब ,पोलीटिक ,एजुकेशन ,हेल्थ आदि विषयो में रूचि रखता हु | में बीए ग्रेजुएट हु और मुझे नई नई चीजे एक्स्प्लोर करना अच्छा लगता है |

Sharing Is Caring:

1 thought on “कुंडलपुर कैसे जायें | Kundalpur Kaise Jaen?”

Leave a Comment