gotam

गौतम गंभीर के हेड कोच बनते ही इन चार दिग्गजों की टीम इंडिया से विदाई तय, BCCI ने मान ली ये शर्तें

Gautam Gambhir वनडे, टेस्ट और टी-20 तीनों फॉर्मेट में भारत के कोच होंगे और जुलाई से शुरू हो रहे जिम्बाब्वे दौरे से उनके कार्यकाल का ‘श्रीगणेश’ हो जाएगा। गंभीर ने पहले बीसीसीआई के सामने पांच शर्तें रखी थी, जिसके मानने के बाद ही उन्होंने कोच पद के लिए सहमति जताई।

नई दिल्ली: भारतीय मेंस क्रिकेट टीम के हेड कोच के रूप में पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर की नियुक्ति लगभग पक्की हो गई है। वर्तमान कोच राहुल द्रविड़ का अनुबंध मौजूदा टी-20 विश्व कप के बाद खत्म हो जाएगा। ऐसे में पूरी संभावना है कि जून के आखिरी हफ्ते में बीसीसीआई गंभीर की नियुक्ति की आधिकारिक घोषणा कर देगा। मीडिया सूत्रों की माने तो गौतम गंभीर अपनी शर्तों पर हेड कोच बनने के लिए तैयार हुए हैं। उन्होंने बीसीसीआई के सामने कुछ डिमांड रखी, जिसे बोर्ड ने स्वीकार किया उसके बाद ही 2007 और 2011 वर्ल्ड कप चैंपियन प्लेयर ने हामी भरी।

गौतम गंभीर की 5 शर्त

  • टीम इंडिया पर चाहिए पूरा कंट्रोल
  • सपोर्ट कोचिंग स्टाफ चुनने की आजादी
  • CT25 सीनियर प्लेयर्स का आखिरी मौका
  • टेस्ट की टीम इंडिया पूरी तरह अलग
  • 2027 वर्ल्ड कप के लिए रोडमैप तैयार
image
गौतम गंभीर के हेड कोच बनते ही इन चार दिग्गजों की टीम इंडिया से विदाई तय, BCCI ने मान ली ये शर्तें 3

गंभीर की एंट्री से इन 4 प्लेयर्स की छुट्टी
42 वर्षीय गौतम गंभीर की देखरेख, मेंटॉरशिप में ही कोलकाता नाइटराइडर्स 10 साल का सूखा खत्म करने में कामयाब रहा था और 2014 के बाद पहली बार और कुल तीसरी बार आईपीएल ट्रॉफी जीती थी। अब जब गौतम गंभीर टीम इंडिया के हेड कोच बनने जा रहे हैं तो इतना तय है कि टीम में बड़े बदलाव होंगे। आक्रामक रवैये वाले दिल्ली के इस पूर्व खिलाड़ी के आने के बाद इन चार खिलाड़ियों की छुट्टी तय है।

विराट कोहली-
 तीनों फॉर्मट में रनों का अंबार लगा चुके विराट कोहली भारत के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में शुमार हैं। 2008 में अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत करने वाले विराट ने भारत को कई मैच जिताए हैं। गौतम गंभीर का मानना है कि अब विराट को सिर्फ टेस्ट और वनडे फॉर्मेट पर ही फोकस करना चाहिए। टी-20 में नए खिलाड़ियों को मौका मिलने की जरूरत है।

रोहित शर्मा- मौजूदा भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने भारत के लिए 2007 में डेब्यू किया था। विराट की कप्तानी छोड़ने के बाद उन्हें कैप्टन बनाया गया। फिलहाल वह तीनों फॉर्मेट में भारत की अगुवाई कर रहे हैं। वैसे भी बीते कई साल से टी-20 फॉर्मेट में हिटमैन का प्रदर्शन अपेक्षा के अनुरूप नहीं रहा है। ऐसे में आप देखेंगे कि गंभीर के आने से शायद रोहित शर्मा अब तीनों फॉर्मेट नहीं खेल पाए।

रविंद्र जडेजा- बीते कई साल से रविंद्र जडेजा वाइट बॉल फॉर्मेट में भारतीय टीम में बिना प्रदर्शन के ही सिलेक्ट होते जा रहे हैं। 2022 टी-20 विश्व कप, 2023 वनडे विश्व कप, मौजूदा टी-20 विश्व कप पिछले हर बड़े टूर्नामेंट में जड्डू ने निराश किया है। बाएं हाथ का यह स्पिन ऑलराउंडर सिर्फ टेस्ट ही खेलने के लायक है और वो भी स्वदेशी पिच पर। ऐसे में गौतम गंभीर के कार्यकाल में फ्लॉप हो रहे जडेजा का करियर खत्म हो सकता है।

मोहम्मद शमी- आखिरी नाम अमरोहा एक्सप्रेस मोहम्मद शमी का है। भारतीय तेज गेंदबाज के लिए गौतम गंभीर के पास स्पष्ट प्लान है। गंभीर शमी को टेस्ट में लगातार खिलाना चाहते हैं। साथ ही 2027 वनडे विश्व कप भी उनके रडार में है। ऐसे में अब वर्कलोड मैनेजमेंट के चलते शायद मोहम्मद शमी आपको अब टी-20 टीम से बाहर होते दिख सकते हैं।

Share this article:
Previous Post: KKR vs DC Dream11 Team Prediction

April 3, 2024 - In General, Cricket, News, Sports

Next Post: Blog 1

July 20, 2024 - In General

Leave a Reply

Your email address will not be published.